Monday, April 22, 2024
Homeकाम की बातलौंग में पाए जाते है औषधि गुण सेहत में होते है इसके...

लौंग में पाए जाते है औषधि गुण सेहत में होते है इसके बहुत से लाभ, जाने इसकी उत्पत्ति से जुड़ी जानकारियां

आप भी लौंग के बारे में जानते ही होंगे ,इसका स्वाद बहुत ज्यादा बेहतरीन होता है। भोजन में प्रयोग किए जाने वाले मसालों में लौंग का बहुत बढ़ा स्थान है। यह खाने में बहुत ज्यादा अच्छा स्वाद ला देती है। . शरीर के लिए भी लौंग बहुत ज्यादा लाभकारी होती है। यह लिवर को सुरक्षित तो रखती में भी बहुत ज्यादा मदद करती है। इसके साथ इसके शरीर में बहुत ज्यादा फायदे होते है। यह एक औषधि गुणों का काम करती है। इसमें बहुत से प्रकार के औषधि गुण पाए जाते है। तो जानते है इससे होने वाले फायदे के बारे में,

यह भी पढ़े –जब भी मीठा खाने का मन हो तो हलवाई जैसे बनाये रसगुल्ले घर पर, जाने इनको बनाने की रेसेपी

प्राचीन युग में लौंग का स्थान

सभी मसालों में लौंग का एक बहुत बढ़ा महत्वपूर्ण स्थान है , इनमें काली मिर्च, जायफल, जावित्री के अलावा लौंग को भी शामिल किया गया है। इसकी सुगंध से इसको बहुत ज्यादा लाभकारी मन जाता है। मध्य युग में जहां पर लौंग को उगाया जाता था। वहां पर इसका उपयोग भोजन को संरक्षित करने और कुछ विशेष प्रकार की डिशेज में इसका स्तेमाल किया जाता था। ऐसा भी कहा जाता है पुराने समय में अपने मुंह को सुगंधित बनाए रखने के लिए लौंग का सेवन किया करते थे। इसके साथ भोजन में इस्तेमाल करने के साथ इसका उपयोग औषधि में भी बहुत ज्यादा किया जाता है।

इसकी उत्पत्ति का स्थान

यह माना जाता है की बहुत सालों पहले इंडोनेशिया में लौंग को पैदा किया गया था। तथा इसकी उत्पत्ति मोलुकास द्वीप समूह में की गयी थी। लिखित तौर पर लौंग का वर्णन चीनी साहित्य में पाया जाता है। भारत और चीन के सीमावर्ती क्षेत्र और दक्षिण एशिया भी शामिल है। लौंग को पूरी दुनिया में पहुंचाने में पुर्तगाली का बहुत बढ़ा योगदान रहा है। जिसके अनुसार 17वीं शताब्दी की शुरुआत में डचों ने लौंग की उच्च कीमतों को बनाए रखा। इस तरीके से इसकी उत्पत्ति की गयी है।

ईस्ट इंडिया कंपनी ने कैसे शुरु किया लौंग का उत्पादन

आप अगर लौंग की बात करे तो मसाला प्रोद्योगिकी के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय पहचान बनाने में लौंग का बहुत बढ़ा स्थान रहा है। इसके बारे में कि ईस्ट इंडिया कंपनी ने 1800 में लौंग का उत्पादन करना शुरु कर दिया था। भारत से पहले उन्होंने इसकी खेती श्रीलंका में कर के देखि। भारत में इसकी खेती मुख्य तौर पर दक्षिण भारत में सबसे अधिक पैमाने पर की जाती है। भारत का मौसम लौंग उगाने के अनुकूल रहा है। पूरे विश्व में अब लौंग की खेती जाजीबार श्रीलंका, मेडागास्कर, मलेशिया और भारत में सबसे अधिक मात्रा में की जाती है। भारत अब लौंग की खेती बहुत बड़े पैमाने पर कर रहा है।

यह भी पढ़े –इस त्यौहार के मौके पर इस तरह की हेयरस्टाइल ट्राई करे लगेगा आपका लुक बेहद सुन्दर, देखे इनके बारे में

लौंग में पाए जाते है औषधि गुण

लौंग खाना हमारी सेहत के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होते है। यह सेहत के लिए भी बेहद गुणकारी है लौंग. इसे प्रभावी रूप से एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है। यह लिवर को सुरक्षित रखने में बेहद फायदेमंद होती है। लौंग का सेवन करना ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहता है.लौंग का सेवन हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होता है। अगर यह सिस्टम ठीक है तो जी मिचलाना, उल्टी, अपच, आंतों की गैस, पेट दर्द, कब्ज आदि की समस्या से छुटकारा मिल सकता है। यह पाचन सिस्टम को अच्छा बनती है। शरीर की श्वेत रक्त कोशिकाओं की संख्या को बढ़ाने के मदद करती है। इसलिए हमें लौंग का सेवन करना चाहिए। यह हमारे शरीर के लिए लाभकती होती है।

RELATED ARTICLES