Wednesday, April 24, 2024
HomeKHETI KISANIकम समय में जबरदस्त मुनाफे के लिए शुरू करे सूरजमुखी की खेती,...

कम समय में जबरदस्त मुनाफे के लिए शुरू करे सूरजमुखी की खेती, मार्केट में खूब होती है इनकी डिमांड

Sunflower Cultivation:  कम समय में जबरदस्त मुनाफे के लिए शुरू करे सूरजमुखी की खेती, मार्केट में खूब होती है इनकी डिमांड अब किसान भाई फलों व सब्जियों की खेती को छोड़कर फूलों की खेती कर सकते हैं. फूलों की खेती किसानों के लिए अधिक लाभदायक है. इसमें किसान भाई अच्छा पैसा भी बचाते हैं. किसान सूरजमुखी की खेती कर अच्छा लाभ प्राप्त कर सकते हैं. इसकी खेती कर्नाटक, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, तमिलनाडु व बिहार में बड़े स्तर पर की जा रही है.

अगर आप भी सूरजमुखी की खेती करने का सोच रहे है तो आपको इसके उन्नत किस्मो का ही चयन करना चाहिए, जिससे अधिक बीजों और तेल का उत्पादन किया जा सके. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सूरजमुखी की किस्मों को कंपोजिट और हाइब्रिड के आधार पर वर्गीकरण किया गया है. सूरजमुखी 100 से 120 दिन में तैयार हो जाता है.  

यह भी पढ़े- किसान भाइयो को चीकू की खेती करायेगी मालामाल, कम लागत में होंगा बम्पर मुनाफा, इस तरीके से करे खेती

सूरजमुखी की खेती के लिए ध्यान देने योग्य बाते

  1. जमीन को इथरेल छिड़ककर तैयार करें.
  2. इसके बाद सूरजमुखी की उन्नत और हाइब्रिड किस्मों की बुवाई करें.
  3. खेत में अच्छी पैदावार के लिए गोबर की सड़ी खाद या वर्मी कंपोस्ट डालना चाहिए.
  4. किसान मिट्टी की जांच करके नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटेशियम, गंधक और सूक्ष्म तत्वों का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  5. फूल निकलते समय सूरजमुखी की फसल पर बोरेक्स छिड़काव किया जाता है, ताकि बीजों की गुणवत्ता बरकरार रहे.
  6. फसल को नील गायों और चिड़ियों से बचाने के खेत की मेड को भी नियंत्रित करना चाहिए.

यह भी पढ़े- युवक ने गजब का जुगाड़ लगाकर ऑटो को बना दिया फुल्ली लक्ज़री, शानदार फीचर्स के साथ सनरूप सिस्टम से है लैस, देखे वीडियो

जाने इसके फायदे

आपको बता दे की वैसे तो इसकी खेती तेल के लिए की जाती है, लेकिन कई कंपनियां इससे सौंदर्य उत्पाद भी बनाती हैं. इसे खाद्य तेल के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है. इसकी उन्नत खेती किसानों को फायदे दे सकती है क्योंकि इसकी मांग हर साल बनी रहती है. ऐसे में किसान भाई सूरजमुखी की खेती कर अच्छा मुनाफा हासिल कर सकते हैं. तो आप भी फटाफट इसकी खेती करना शुरू कर दें

RELATED ARTICLES