Wednesday, June 12, 2024
Homeलाइफस्टाइलखाना खाने के बाद कितना है चलना, पढ़ सकता है बुरा असर,...

खाना खाने के बाद कितना है चलना, पढ़ सकता है बुरा असर, डॉक्टर से ले सलाह

खाना खाने के बाद कितना है चलना, पढ़ सकता है बुरा असर, डॉक्टर से ले सलाह, क्या आप भी खाना खाने के बाद थोड़ा घूमने जाते है इसे फायदे कम नुकसान ज्यादा हो सकते है हम आपको बताएंगे कि खाने के बाद आपको कितना चलना चहिये और कितना नहीं चलना चहिये आपको जानकर हैरानी हो सकती है चलिए जानते है

आयुर्वेद एक्सपर्ट से जानें

चलना आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा है, आपको चलने का ही एक टाइम होना चहिये और कब चलना है खाने के बाद या खाना खाने के पहले और इसे आपको छोटी सी बात है करके नहीं समझना चाहिए क्योंकि गलतियों के कारण फायदा नुकसान में बदल जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार हमे खाने के बाद कुछ कदम चलना चहिये लेकिन कितना चलना चहिये ये हम आपको बतायेगे आयुर्वेद में खान-पान से लेकर चलने-फिरने तक कई नियमों का जिक्र है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आयुर्वेद के अनुसार खाने के बाद आपको कितने कदम चलना चाहिए।

यह भी पढ़े – दुनिया में सबसे ज्यादा था वजन कर लिए एकदम से कम, कैसे हुआ जानकर हो जाओगे हैरान

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

अर्ली फूड्स की संस्थापक शालिनी संतोष कुमार ने इंस्टा पर साझा किया कि आपको आयुर्वेदिक भोजन कैसे खाना चाहिए। विशेषज्ञों का कहना है कि खाने के बाद हमें 2 या 1 किमी की बजाय 100 कदम ही चलना चाहिए। विशेषज्ञ इसे शतपवली या 100 कदम कहते हैं। उन्होंने कहा कि भोजन के बाद 30 मिनट की सैर से भोजन पचने में मदद मिलती है, इससे ऊर्जा खर्च होगी।

यह भी पढ़े – Tata Nexon EV को दिखा देगी घर का रास्ता, लॉन्च होगी जबरदस्त फीचर्स के साथ Mahindra Electric XUV300

विशेषज्ञ शालिनी ने कहा कि खाने के बाद भोजन को पचाने में लगने वाली ऊर्जा हाथों और पैरों पर बर्बाद हो जाती है। नुकसान यह है कि खाना ठीक से पच नहीं पाता। विशेषज्ञों का यह भी कहना है बचो का भी ऐसे ही है उन्हें भी अगर से वह खाना खा लेते है तो उन्हें कुछ देर खेलने देना चहिये, हलाकि इसे उनका पाचन अच्छा होगा आप खाने के बाद टहलने जाना चाहते हैं तो बस 100 कदम चलें। जैसे ही आप 100 कदम चलते है तो आपकी बॉडी गरम होने लगती है यह भोजन को पचाने में मदद करता है और चयापचय में सुधार करता है। इसलिए अगर आप खाने के बाद टहलने जाते हैं तो दिन में केवल 100 कदम ही चलें।

पीने के पानी की नियमितता

यह भी पढ़े – शादी में क्यों पहना जाता है मांग टिका, जाने हिंदू धर्म में इसके महत्त्व से जुड़ी जानकारिया

आयुर्वेद कहता है कि हमें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि हम भोजन से पहले और बाद में पानी कैसे पीते हैं। ऐसा कहा जाता है कि खाना खाने से एक घंटा पहले पानी पीना बेहतर होता है. भोजन के दौरान या तुरंत बाद पानी पीना जहर के समान है। और अगर आप खाना खाने के एक घंटे बाद पानी पीते हैं तो यह अमृत के समान काम करता है।

RELATED ARTICLES